गोपुरम से आप क्या समझते हैं ?

हैलो दोस्तो आप इस पोस्ट में जानेंगे कि गोपुरम से आप क्या समझते हैं । गोपुरम शब्द के कई अर्थ है इंटरनेट पर सर्च करने के बाद मुझे कुछ जवाब मिले हैं जिन्हें आप पढ सकते हैं ।

गोपुरम से आप क्या समझते हैं

पहला जवाब –

उत्तर- गोपूरम मंदिरों के प्रवेश द्वार को कहा जाता है। विजयनगर शासकों ने मंदिरों में गोपूरम का निर्माण कराया । ये अत्यधिक विशाल एवं ऊँचे होते थे। ये संभवतः सम्राट की ताकत की याद दिलाते थे जो ऊँची मीनार बनाने में सक्षम थे।

दूसरा जवाब –

गोपुरम को हम गोपुर भी कहते हैं यह एक स्मारकीय अट्टालिका का होते हैं, जो कि स्मारकीय अट्टालिका होती हैं। प्राय सिर्फ सज्जित और अधिकतर दक्षिण भारत के मंदिरों  के द्वार पर ही स्थित होती हैं ।यह हिंदू मंदिरों का एक स्थापत्य का एक प्रमुख अंग है, जो कि यह ऊपर किरीड कलश से शोभायमान रहता है, गोपुरम मंदिरों की चारदीवारी में बने द्वार का काम करते हैं।

तीसरा जवाब –

नमस्कार ऑफिस में गोपुरम से आप क्या समझते हैं देखिए गोपुरम का मतलब यह है कि हिंदू शैली में मंदिरों के ऊपर का जो हिस्सा था होता था वह कल की छुट्टी होगी उसे गोपुरम कहा करते थे और आज भी करते हैं गोपुरम

Leave a Comment

error: Content is protected !!